Welcome To AMH Plan !


अल-बरकत :

5 जुलाई 2010 को एक नई सोच ने अल-बरकत के नाम से अपना काम शुरू किया और बिलकुल निचले पायदान से अपने काम की शुरआत करी।अल-बरकत गरीब,अनपढ़,बेहुनर,मुसलमान लोगों की मदद करती है।उनको रोज़गार के हिसाब से और हुनर के हिसाब से मजबूत करती है।

अल-बरकत की चाहत :

मुसलमान कारोबार , तालीम और हुनर में काफी मजबूत पोजीसन में आ जाएं।दूसरी कौमो ने जो उस पर ग़ुरबत,जिलाहत और गन्दगी का जी ठप्पा लगा रखा है, वह मिट जाये।

अल-बरकत का मकसद:

दूसरी कौमो ने जो मुसलमानो के अंदर अहसास कमतरी पैदा क्र दी है वह दूर हो।मुसलमान अपनी सलाहियत और ताकत को पहचाने।उनमे अपने मुसलमान भाई की मदद का सच्चा जज़्बा पैदा हो।मुसलमान अपने पैसो की ताकत को समझे।इसके साथ-साथ अपनी ज़िहानत और सलाहियत का भरपूर व सही इस्तेमाल का तरीका आ जाये।